बढ़ती बेरोज़गारी हो सकती है लोकसभा चुनाव में मुद्दा, भाजपा के..

November 14, 2018 by No Comments

आप को याद होगा पिछले लोकसभा चुनाव मे विकास के साथ भ्रष्टाचार,महंगाई, बेरोज़गारी तीन महत्वपूर्ण मुद्दे थे। यह ऐसे ज्वलंत मुद्दे थे कि केंद्र मे दस साल से चल रही यूपीए की मनमोहन सरकार को सत्ता से बाहर होना पड़ा था।नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद लोगों की सबसे ज़्यादा अपेक्षाएं महंगाई और बेरोज़गारी के मुद्दों को लेकर ही थीं।लेकिन अब जबकि अगले साल फ़िर से लोकसभा चुनाव होने हैं तो लगता है इन मुद्दों पर बीजेपी सरकार खरी नहीं उतरी है।कम से कम आँकड़े तो यही दावा करते हैं।

छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान के संदर्भ मे अगर आँकड़ों को आकलन करें तो स्थिति बीजेपी के लिए अच्छी नहीं है। खास तौर पर बेरोज़गारी के मुद्दे पर यूवा बीजेपी के लिए परेशानी खड़ी कर सकते हैं। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकनॉमी (सीएमआईई) की सांख्यिकीय प्रोफ़ाइल ने अपने आँकड़े जारी कि ये हैं।इन आंकड़ों के अनुसार 20-29 साल के युवा समूह में बेरोज़गारी की दर काफ़ी बढ़ गई है। छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी की दर 26 फीसदी है, इनमें से 14% स्नातक. हैं।जबकि मध्य प्रदेश में 30% है यहाँ बेरोज़गार स्नातक 8% है ।सबसे भयावह स्थिति राजस्थान की है जहाँ बेरोज़गारी दर 55 प्रतिशत पर है जिनमें 21% स्नातक हैं।

बात अगर महिलाओं की करें तो सरकार भले ही महिला सशक्तिकरण की बात करती हो लेकिन वास्तव मे महिलाओं में भी बेरोजगारी का स्तर तीनों राज्यों में बहुत अधिक है, जो छत्तीसगढ़ में 8 % से ,मध्य प्रदेश में 17 % और राजस्थान में 53 % तक है।बीजेपी के लिए परेशानी की एक बात यह भी है कि हाल के सर्वेक्षण इस बात की और साफ़ संकेत देते हैं कि सभी राज्यों में मतदाताओं के दिमाग में बेरोजगारी बड़ा मुद्दा बना हुआ है।.दूसरा सबसे बड़ा महंगाई का है। इन दो मुद्दों पर एक साथ बात करने के बाद पाया गया, कि मध्य प्रदेश में 41 प्रतिशत, राजस्थान में 43 प्रतिशत और छत्तीसगढ़ में 40 प्रतिशत लोगों के सामने ये सबसे बड़े मुद्दे हैं। बात अगर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की करें तो इन दोनों राज्यों में, बीजेपी लगातार तीन बार से सत्ता में रही है इसलिए वह यह भी नहीं कह सकते कि उनको काफी लम्बे समय तक नीति निर्धारित करने का मौका नही मिला है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *