केंद्रीय मंत्री हुए भाजपा से नाराज़,कहा-दुसरे से गठबंधन के लिए हमारी पार्टी को..

March 7, 2019 by No Comments

बीते दो सालों से महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी की सहयोगी पार्टी शिवसेना लोकसभा चुनाव 2019 अकेले लड़ने का दावा कर रही थी।इस साल की शुरुआत से पहले तक महाराष्ट्र में बीजेपी के लिए हालात मुश्किल दिख रहे थे।शिवसेना लगातार केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकारों पर लगातार सवाल उठा रही थी।लेकिन हाल ही में शिवसेना ने बीजेपी के साथ गठबंधन कर सीटों का बंटवारा कर लिया है।
बता दें कि बीजेपी और शिवसेना गठबंधन से महाराष्ट्र में महागठबंधन खतरे में आ गया है।गौरतलब है कि एनडीए के घटक दल भाजपा और शिवसेना ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए अपने गठबंधन की घोषणा करते वक्त एक भी सीट नहीं दी आरपीआई (ए) को कोई भी सीट नहीं दी है।इस मामले में केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री और आरपीआई (ए) अध्यक्ष रामदास आठवले ने शिवसेना और बीजेपी पर हमला बोल दिया है।


शिवसेना


उन्होंने इस गठबंधन पर खुलकर भड़ास निकालते हुए कहा है कि हम खुश हैं कि शिवसेना और भाजपा एकसाथ आए,लेकिन उन्होंने आरपीआई के लिए एक भी सीट नहीं छोड़ी,यह दु’र्भाग्यपूर्ण है।मीडिया से रूबरू होते हुए केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा है कि साल 2014 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव बीजेपी के लिए वोट जुटाने में आरपीआई ने उनकी काफी सहायता की थी।इस बार के लोकसभा चुनाव के लिए शिवसेना और बीजेपी को अपने गठबंधन पर मुहर लगाते वक्त उनकी पार्टी से भी विचार विमर्श करना चाहिए था।
इसके साथ उन्होंने ये भी साफ कर दिया है कि आरपीआई के नेता 25 फरवरी को मुंबई में बैठक करने वाले हैं।इस बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा की जायेगी।उन्होंने कहा कि फिलहाल पार्टी का इरादा एनडीए गठबंधन छोड़ने का नहीं है। इसके साथ उन्होंने ये भी कहा है कि राजनीति में दरवाजे हमेशा खुले रहते हैं।भले ही वह शिवसेना-बीजेपी गठबंधन से नाराज हैं लेकिन वह इसके बावजूद यह चाहते हैं कि अगली सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ही बने।


रामदास अठावले


बता दें कि महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव में शिवसेना 23 और बीजेपी 25 सीटों पर लड़ेगी।सीटों के इस बंटवारे पर दोनों राजनीतिक पार्टियों की सहमति बन गई है।महाराष्ट्र के मुख्यसमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने दोनों राजनीतिक दलों का गठबंधन आगामी लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव में बरकरार रहने की घोषणा की है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *