UP निकाय चुनाव: 5 भाजपा उमीदवारों ने टिकट लौटाया, कहा निर्दलीय लड़ेंगे

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में इसी वर्ष भारतीय जनता पार्टी ने बड़े बहुमत से सरकार बनायी है लेकिन ऐसा लगता है जैसे पार्टी के लिए सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. भाजपा की सरकार केंद्र में भी है और राज्य में भी लेकिन पार्टी के प्रति लोगों की नाराज़गी महसूस की जा रही है. इसी का नतीजा है कि उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या के गृह ज़िले में भाजपा को झटका लगा है.

भाजपा ने चायल पंचायत में जिन उमीदवारों को टिकट दिया था उसमें से पांच वार्ड के सभासद प्रत्याशियों ने पार्टी के सिंबल पर चुनाव लड़ने से मना कर दिया है. इन उमीदवारों का कहना है कि वो निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे पार्टी के टिकट पर नहीं. वार्ड नंबर 10 प्रत्याशी सुरेश कुशवाहा कहते है कि उन्हें नहीं मालूम कि भाजपा ने उन्हें टिकट दिया है या कि नहीं लेकिन वो भाजपा के टिकट पर चुनाव नहीं लड़ेंगे. कुशवाहा का कहना है कि वो निर्दलीय ही चुनाव में भागीदारी करेंगे और वो नामांकन भी कर चुके हैं.

ये सभी प्रत्याशी असल में इस बात से डरे हुए हैं कि अगर वो भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे तो उन्हें मुस्लिम मतदाता वोट नहीं देगा. इस वजह से वो ये नहीं चाहते कि उनके पक्ष में वोट डालने की बात करने वाले लोग किसी पार्टी की वजह से उनसे दूर हो जाएँ. इसको लेकर हालाँकि वो कोई बात तो नहीं कह रहे हैं लेकिन ऐसा साफ़ ज़ाहिर हो रहा है. हालाँकि क्षेत्रीय जानकारों के मुताबिक़ भाजपा के प्रति लोगों में नाराज़गी भी एक बड़ी वजह है और ये नेता नहीं चाहते कि किसी भी स्थिति में भाजपा की वजह से वो चुनाव हारें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.