UP: सरकार के आदेश ने बढ़ाई ग़रीबों की परेशानी, ‘शौचालय नहीं तो राशन नहीं’

हाथरस: मोदी सरकार के ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के तहत गाँवों में सरकार शौचालय बनने के दावे कर रही है।  जिला प्रसाशन ने कई दर्जन गांवों को खुले में शौचमुक्त घोषित कर दिया गया है। इस कड़ी में कई गाँवों को खुले में शौचमुक्त करने की तैयारियां जोरों-शोरों पर चल रही है। इसे लेकर हाथरस की सादाबाद नगर पंचायत में जिलाधिकारी हाथरस अमित कुमार सिंह ने  फरमान जारी किया है। जिसमें जिलाधिकारी ने आदेश दिया है कि जिन 129 घरों में शौचालय नहीं है उन्हें मिलने वाले सरकारी राशन पर रोक लगा दी जाए।

हाथरस जिले की नगर पंचायत सादाबाद की अधिकारी दीपिका शुक्ला ने 129 परिवारों को मिलने वाला सरकारी राशन रोक दिया है। जिसके मुताबिक,जिन लोगों के घरों में शौचालय नहीं है, उन्हें कोटे का राशन नहीं मिलेगा। जिला प्रशासन के इस फैसले के बाद उन  मजदूरी करने वाले परिवारों को अपना पेट पालने में बहुत दिक्कत आयेगी, जो सारा दिन मेहनत मजदूरी करके राशन खरीदते हैं। इस बारे में बात करते हुए एक गरीब विधवा महिला लज्जावती ने बताया कि हमारे घर में सिर्फ एक कमरा है। हम वहीँ पर सोते हैं और खाना बनाते हैं।पीने के पानी के लिए घर में नल नहीं है, पर शौचालय बनवाना जरूरी है। प्रशासन के इस फैसले के बाद हमें कर्ज लेकर शौचालय बना रहे हैं।इस मामले में लोगों का कहना है कि सरकार शौचालय बनाने के लिए तो कह रही है, लेकिन गरीब लोगों को इतने पैसे नहीं दे रही है। जिसके कारण हमें मजदूरों की जगह हम खुद मेहनत कर रहे हैं।

वहीं सादाबाद नगर पंचायत की अधिकारी दीपिका शुक्ला का कहना है कि ये आदेश जिलाधिकारी के कहने पर जारी किया गया है। उन्होंने ये आदेश सिर्फ सादाबाद नगर पंचायत में ही बिना शौचालय वालों का राशन नहीं रोका गया है। बल्कि डीएम साहब के आदेश पर जिले की अन्य नगर पंचायतों के व्यक्तियों के राशन पर भी रोक लगा दी गई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.