नार्थ कोरिया को एक बार फिर ट्रम्प ने दी चेतावनी;UNGA में रोहिंग्या मुद्दे पर रहे ख़ामोश

न्यूयॉर्क: अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने संयुक्त राष्ट्र जनरल असेंबली में बोलते हुए जहां उत्तरी कोरिया को चेतावनी दी वहीँ रिफ्यूजी लोगों को अपने यहाँ रखने के लिए सीरिया, जॉर्डन और तुर्की की तारीफ़ की.

उन्होंने कहा कि नार्थ कोरिया के इलावा कोई भी ऐसी regime नहीं है जिसने अपने लोगों को अपमानित किया है. ट्रम्प ने कहा कि उत्तरी कोरिया का नुक्लेअर हथियारों की महत्वकांक्षा मानव-जाति के लिए भारी नुक़सान वाली है. उन्होंने कहा कि नार्थ कोरिया के लिए भविष्य सिर्फ़ यही है कि वो परमाणु हथियारों का त्याग कर दे. ट्रम्प ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर नार्थ कोरिया ने उनकी बात नहीं मानी तो उनके पास उसे ख़त्म करने के सिवा कोई दूसरा रास्ता नहीं होगा.

डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि हम सामंजस्य्स और दोस्ती चाहते हैं. उन्होंने कहा कि अमरीका के लिए सबसे बेस्ट हैं संविधान के तीन शब्द “वी दा पीपल”.

उन्होंने ईरान से हुई संयुक्त राज्य अमरीका की डील को बहुत ख़राब डील बताया.

इसके पहले ईरानी राष्ट्रपति ने मीडिया से कहा कि अगर संयुक्त राज्य अमरीका ये डील तोड़ता है तो ये ईरान के लिए फ़ायदे की बात होगी जबकि संयुक्त राज्य अमरीका को इसमें नुक़सान होगा. उन्होंने कहा कि ये सब देख रहे हैं कि ईरान ने समझौते को पूरी तरह निभाया है और अमरीका एक ऐसा देश है जिस पर भरोसा नहीं किया जा सकता.

अमरीकी राष्ट्रपति के जनरल असेंबली में भाषण में कई बातें नोट करने वाली रहीं लेकिन सबसे ख़ास बात ये रही कि उन्होंने रोहिंग्या मुद्दे पर कोई बयान नहीं दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.