सऊदी अरब के समर्थन में आया USA; UN से की ईरान के ख़िलाफ़ एक्शन की मांग

संयुक्त राज्य अमरीका ने ईरान पर यमन के हौथी विद्रोहियों को मिसाइल सप्लाई करने का आरोप लगाया है. संयुक्त राष्ट्र से अमरीका ने अपील की है कि वो ईरान पर कार्यवाही करे. अमरीका का आरोप है कि ईरान ने UNSC रेजोल्यूशन का उल्लंघन किया है. संयुक्त राष्ट्र में संयुक्त राज्य अमरीका की एम्बेसडर निक्की हैले ने बताया कि सऊदी अरब ने जो जानकारी दी है उससे ये साबित होता है कि जुलाई में सऊदी अरब की ओर दागी गयी मिसाइल ईरान की एक मिसाइल है.

उन्होंने कहा कि ये इस प्रकार का हथियार है जो यमन में युद्ध से पहले नहीं मौजूद था. हैले ने कहा कि हौथी विद्रोहियों को हथियार सप्लाई करके ईरान ने दो UN रेजोल्यूशन का उल्लंघन किया है. उन्होंने उम्मीद जताई कि शनिवार को सऊदी अरब की ओर दागी गयी मिसाइल भी ईरान की बनी हुई हो सकती है.

उन्होंने कहा कि अमरीका अन्तराष्ट्रीय क़ानून का उल्लंघन किये जाने पर आँखें बंद नहीं कर लेगा.

इस मामले में ईरान और सऊदी अरब में तनातनी का माहौल है.दोनों देश एक दूसरे पर उकसाने का इलज़ाम लगा रहे हैं.जानकारों के मुताबिक़ ये पूरा विवाद इलाक़े में अपनी पकड़ बनाने को लेकर है. सऊदी अरब नहीं चाहता कि यमन में ईरान का कोई प्रभाव रहे लेकिन ईरान यमन के गृह युद्ध में हौथी विद्रोहियों का समर्थन कर रहा है. इतना ही नहीं सऊदी अरब के विदेश मंत्री आदेल अल जुबेर ने तो यहाँ तक कह दिया है कि उनका देश ईरान की दखलंदाज़ी को बर्दाश्त नहीं करेगा. सऊदी अरब ने ईरान द्वारा इस तरह से हौथी विद्रोहियों की मदद को क्षेत्र के लिए ख़तरा बताया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.