अंतिम ओवर तक चले मैच में उस्मान ख्व़ाजा का कमाल, किया ये कारनामा

October 12, 2018 by No Comments

क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसमें रिकार्ड्स का बनना और बिगड़ना चलता रहता है. जो भी रिकॉर्ड बनता है वो कुछ साल में टूट जाता है लेकिन कुछ रिकॉर्ड ऐसे हैं जो लम्बे समय तक चलते हैं लेकिन कभी तो उन्हें भी टूट ही जाना है. ऐसा ही कुछ हुआ है पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए एक मैच में. इस मैच में 70 साल पुराना रिकॉर्ड टूट गया.

ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज़ उस्मान ख़्वाजा ने आज 70 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ दिया. उस्मान ने कुल 302 गेंदों का सामना किया जिसकी वजह से उनका नाम इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया है. एक लम्बा समय ऐसा रहा है कि ऑस्ट्रेलिया की टीम को सबसे ख़तरनाक टीमों में से एक माना जाता रहा है.

ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के मध्य हुए मैच में हालाँकि ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज़ बहुत ख़ास नहीं कर सके बस किसी तरह मैच बचा ले गए. इसका श्रेय उस्मान को ही जाता है. रोमांच से भरपूर इस मैच में उस्मान की शानदार बल्लेबाज़ी की मदद से ऑस्ट्रेलिया की टीम आख़िरी दिन मच को ड्रा कराने में कामयाब रही.

पाकिस्‍तान ने ऑस्ट्रेलिया के समक्ष अंतिम इन्निंग्स में 462 रनों का लक्ष्‍य रखा था लेकिन चौथी पारी में इतने रन बनाना लगभग असंभव सा ही लग रहा था. टीम ने आखिरी दिन 3 विकेट के नुकसान पर 136 रन से आगे खेलना शुरू किया. ऑस्ट्रेलिया को सुबह जीतने के लिए 326 रनों की जरूरत थी, वहीं पाकिस्‍तान को जीत के लिये 7 विकेट की आवश्‍यकता थी।

जहाँ एक छोर पर विकटों का गिरना जारी था वहीं एक छोर पर उस्मान मज़बूती से डटे हुए थे. ओपनिंग करने आए ख्व़ाजा ने 302 गेंदों की पारी खेली जिसमें उन्होंने 141 रन बनाए. उस्मान के प्रदर्शन की वजह से ही ऑस्ट्रेलिया इस मैच को बचाने में कामयाब रहा. उन्हें मैन ऑफ़ दा मैच का ख़िताब दिया गया. पाकिस्तान ने अपनी ओर से अंतिम ओवर तक मैच को जीतने की कोशिश की लेकिन बात बन नहीं पायी और ऑस्ट्रेलिया अंतिम समय तक 362 रन बना पायी लेकिन उसके 8 ही विकेट गिरे. उस्मान ने पहली पारी में भी 85 रन बनाए थे.

आपको बता दें कि इस मैच में एक और रिकॉर्ड बना और वो ये था कि पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच ये सन 1998 के बाद पहला टेस्ट था जो ड्रा खेला गया. इस दरम्यान 19 टेस्ट खेले गए थे जिसमें से 16 टेस्ट ऑस्ट्रेलिया ने जीते थे और 3 पाकिस्तान की टीम जीत सकी थी. पाकिस्तान की टीम इस मैच के ड्रा होने से निराश दिखी लेकिन दोनों ही टीमों के प्रदर्शन की सराहना हुई है. सीरीज़ का पहला मैच इस शानदार तरह से ड्रा होने से खेल में दिलचस्पी बढ़ गयी है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *