हमारे ख़िलाफ़ 3-3 एजेंसी लगा रखी हैं और अमित शाह के बेटे के ख़िलाफ़ एक भी नहीं: वीरभद्र सिंह

नूरपुर/शिमला: हिमाचल प्रदेश में चुनाव को सिर्फ़ 6 दिन बाक़ी हैं और ऐसे में चुनावी बयानबाज़ी तेज़ होने का दौर है. भाजपा और कांग्रेस के नेता एक दूसरे पर लगातार बयानबाज़ी कर रहे हैं. भाजपा दावा कर रही है कि 68 सीटों वाली विधानसभा में सत्ता पर वो क़ाबिज़ होगी लेकिन कांग्रेस का दावा है कि राजा साहब (वीरभद्र सिंह) ही दुबारा मुख्यमंत्री की गद्दी संभालेंगे.बढती चुनावी गहमागहमी में कल मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने नूरपुर का दौरा किया.

नूरपुर दौरे पर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने भाजपा पर हमला तेज़ करते हुए कहा कि सत्ता का दुरूपयोग करके उन्हें डराने की कोशिश की जा रही है लेकिन जो लोग ये सोचते हैं कि वो डर जायेंगे तो ये उनकी ग़लतफ़हमी है. सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार ने उनके सभी खातों को सील कर लिया है ताकि इलेक्शन कैम्पेन ना कर पाऊं. उन्होंने कहा कि मेरे पास इलेक्शन में प्रचार करने के लिए पैसा नहीं है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने कईप्रधानमंत्रियों को देखा है और सभी में एक शालीनता होती थी लेकिन मोदी में वो सब नहीं है और वो सभी दायरे ख़त्म कर चुके हैं. वीरभद्र ने कहा कि हमारी हस्ती को ख़त्म करने की जो कोशिश की जा रही है उससे हम और मज़बूत होकर उभरेंगे.

ED और सीबीआई में उनके ख़िलाफ़ दाख़िल मामलों पर उन्होंने कहा कि एक ही मामले की जांच के लिए केंद्र सरकार ने 3-3 एजेंसी लगा रखी हैं. इसके अलावा उन्होंने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बेटे की कंपनी की आमदनी में अचानक बढ़त होने के मामले को भी उठाया. उन्होंने कहा कि शाह के बेटे की आमदनी एक ही साल में 84 करोड़ हो गयी लेकिन मोदी सरकार उसकी जांच नहीं करवाना चाहती.

Leave a Reply

Your email address will not be published.