जितेंद्र त्यागी ( वसीम रिज़वी ) का परिवार सड़क पे आया , जेल से बोला – मेरे परिवार को बचा लो नही तो …

वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र इस समय जे,ल में हैं,उन्हें हेट स्पीच मामले में गि रफ्तार किया गया है. उन्होंने यह बयान हरिद्वार में दिया था.उसके बाद इन पर के,स दर्ज किया गया था और अब यह जे,ल में हैं. वहीँ जे,ल से वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र ने ट्वी,ट करके लोगों से मदद मांगी है. उन्होंने इस बात का ड-र जताया है कि लोग उनकी पत्नी को मा,र डालेंगे.

दरअसल बीते दिनों वसीम रिज़वी की पत्नी पर कथित हम,ला हुआ था.उनकी पत्नी ने कहा था कि कुछ लोग उन्हें घर में मा रने के लिए आये थे.उसी के बाद वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र ने कहा है कि मेरी पत्नी को कुछ लोग मा र डालेंगे.

वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र ने ट्वी,ट करते हुए लिखा है कि मैं जे,ल में हूं,उधर मेरी पत्नी को मौलानाओ ने मा,रपीट कर अपने घर से बाहर निकाल दिया.मौलानाओं का साथ यूपी पुलिस के एक मुसलमान एएसआई जैदी ने दिया है।

जितेंद्र त्यागी ने गुहार लगाई है कि आप लोग मेरे परिवार का साथ दें. जि,हादी मेरी पत्नी फरहा फातिमा की ह,त्या भी कर सकते हैं. वह मेरे परिवार को ड,रा रहे हैं. मैं जे,ल में बंद हूं.आप लोग ही न्याय करें.

आप को बता दें कि वसीम रिज़वी की पत्नी ने सहादतगंज था,ने में शि,कायत दर्ज कराई है. उस में उन्होंने लिखा है कि मेरे घर में कुछ काम चल रहा था.जिसे रोकने के लिए कुछ पड़ोस के लोग आ गए.

उन्होंने घर में घुसकर अभ,द्र बर्ताव किया, गा-लियां दी.वसीम रिज़वी की पत्नी फरहा ने आ,रोप लगाया कि मौके पर आया एसआई वहां चुपचाप खड़ा रहा.बाद में उसने चाबी छीनकर उनके ही परिवार को घर से बाहर कर दिया.

आप को बता दें कि वसीम रिज़वी बीते कुछ सालों से लगातार वि’वादों में हैं, वह हमेशा मुस्लिम समाज को निशा’ने पर लेते रहे हैं और मुसलमानों को आतंकवादी कहते रहे हैं.

उन्होंने हाल ही में हिन्दू ध,र्म कुबूल कर लिया है और अब हि न्दू धर्म के मुताबिक चल रहे हैं. हाल ही में उन्होंने हरिद्वार में धर्म संसद में बयान दिया था कि सारे मुसलमानों का क़,त्ल कर दिया जाए.

उसके बाद उन्हें हिरा,सत में लेकर जे,ल भेज दिया गया है. इस समय भी वसीम रिज़वी जे ल में बंद हैं.

पुलिस ने इस पर दिया बयान
प्रभारी निरीक्षक सआदतगंज बृजेश यादव के मुताबिक वसीम रिजवी के चेयरमैन रहते हुए यतीमखाने का एक मकान उनके रिश्तेदार के नाम से आवंटित हुआ था।

उनका आवंटन रद्द करके वफ्फ ने यह मकान अब किसी और को आवंटित कर दिया है। जिसे आवंटन हुआ वह शुक्रवार को क,ब्जा लेने पहुंचा था। वसीम की पत्नी इसका वि,रोध कर रही थी। इसी को लेकर दोनों पक्षों में कहा,सुनी हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.