वसीम रिज़वी के पीएम को लिखा खत,बोले-अगर ये नही किया फिर आधे मुस्लिम हो जायेंगे आ-तंकी

February 16, 2019 by No Comments

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद पूरा देश शोक में है।देशभर के लोग इस घटना के प्रति विरोध जता रहे है।देश में हर वर्ग पाकिस्तान की इस नापाक हरकत पर मुहं तोड़ जवाब की मांग कर रहे है वही शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी ने अलग राग अलापा है.उत्तर प्रदेश में शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है।
जिसमें उन्होंने यह अनुरोध किया है कि देश से जल्द से जल्द मदरसों को बंद किया जाना चाहिए।शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी का कहना है कि मदरसों में आ’तंकी संगठन आई.एस.आई.एस.की विचारधारा को प्रमोट किया जा रहा है।जिससे देश के युवा बच्चों पर गलत असर पड़ रहा है।

वसीम रिज़वी



बताया जा रहा है कि वसीम रिजवी ने अपने इस पत्र में लिखा है कि देश की आधे से ज्यादा मुसलमान आई एस आई एस समर्थक हो जाएंगे।अगर जल्द से जल्द यहां मौजूद मदरसों को बंद करने के लिए कार्यवाही ना की गई।वसीम रिजवी का कहना है कि आई एस आई एस आ’तंकी संगठन अपने मिशन के लिए मासूम बच्चों को निशाना बना रहा है।
इस वक्त आई.एस.आई.एस धीरे-धीरे पूरी दुनिया में रहने वाली मुस्लिम आबादी क्षेत्रों पर अपनी पकड़ बनाने में लगा हुआ है।वसीम रिजवी का कहना है कि देश के पिछड़े इलाकों में चल रहे मदरसों की हालत काफी खराब है और यहां पर पढ़ने वाले बच्चों का भविष्य खराब हो रहा है।

वसीम रिज़वी



उन्हें सामान्य शिक्षा से दूर रख क’ट्टरपंथी सोच के साथ जोड़ा जा रहा है जो कि उनके भविष्य के लिए ख’तरनाक है.अपने लिखे गए पत्र में उन्होंने कहा है कि मैं मोदी सरकार को यह सुझाव देना चाहता हूं कि देश के मुस्लिम बच्चों के भविष्य को देखते हुए इन मदरसों को जल्द से जल्द बंद किया जाना चाहिए।
आपको बता दें कि वसीम रिजवी ने मोदी सरकार को यह भी सुझाव दिया कि अगर हाई स्कूल पास करने के बाद अगर कोई बच्चा धर्म प्रचार करना चाहता है,तो वह मदरसे में दाखिला ले सकता है। इससे हाई स्कूल तक मुस्लिम बच्चे सामान्य शिक्षा ले सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *