भाजपा का विकास जब पैदा ही नहीं हुआ तो मरेगा कैसे: लालू

पटना: भारतीय राजनीति के धुरंधरों में सबका बोलने का भाषण देने का अपना अंदाज़ है लेकिन राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का अंदाज़ सबसे जुदा है. वो चाहे सत्ता-पक्ष में हों या विपक्ष में उनका अंदाज़ मज़ेदार ही होता है.

इसी अंदाज़ को क़ायम रखते हुए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री ने भाजपा के विकास के दावों पर चुटीला कटाक्ष किया है. असल में बसपा सदस्य देबाशीष जरारिया ने मांग की थी कि लालू #RIPभाजपा_का_विकास के नाम से चल रहे हैशटैग पर अपनी टिपण्णी दें. लालू ने उनकी इस मांग को पूरा करते हुए कहा,”जो पैदा ही नहीं हुआ वो मरेगा क्या? इसलिए किसका RIP? #RIPभाजपा_का_विकास”

लालू ने मोदी सरकार के अलावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी लगातार घेरा है. उन्होंने रवीश कुमार के पैरोडी अकाउंट को री-ट्वीट किया है जिसमें कटाक्ष के तौर पर ये कहा गया है कि नीतीश कुमार की अंतरात्मा सिर्फ़ लालू के करप्शन को देख कर ही जागती है और रमण सिंह के बेटे ने जो करप्शन किया है उसे नीतीश देश हित में देखते है.

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में बताया है कि बिहार बोर्ड एग्जामिनेशन में ऐसे सवाल पूछे जाते हैं जिससे उसकी भारत से अलग पहचान उजागर हो. उन्होंने इसको लेकर फ़ोटो भी साझा किया है.

लालू के बेटे और राजद नेता तेजश्वी यादव ने भी शिक्षा के मुद्दे को उठाते हुए ट्वीट किया है. उन्होंने कहा,”नीतीश जी ने बिहार की शिक्षा का बँटाधार कर दिया? शिक्षा की गुणवत्ता ख़राब करने का श्रेय नीतीश जी को जाता है। शिक्षको व छात्रों की समस्याओं पर कोई ध्यान नहीं?”.

उन्होंने एक अन्य ट्वीट किया,”नीतीश जी बिहार के स्कूलों में शिक्षक और छात्रों का अनुपात क्या हैं ? आपने विगत 12 वर्ष के अपने शासनकाल में शिक्षको की बहाली क्यों नहीं होने दी?जवाब दो?”

Leave a Reply

Your email address will not be published.