क्या 2019 में कमाल करेगी बसपा?

February 20, 2018 by No Comments

बहुजन समाज पार्टी की दो अहम चुनावों में बुरी हार हुई है। 2014 के लोकसभा चुनाव में पार्टी का खाता भी नहीं खुला जबकि 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पार्टी को बुरी हार का सामना करना पड़ा। हालांकि मायावती ने हार का दोष EVM को भी दिया है लेकिन ये भी सच है कि पार्टी अंदरूनी तौर पर काम कर रही है और कोशिश में है कि जनता के बीच फिर अच्छे से आया जाए। ऐसे में पार्टी ज़मीन पर काम कर रही है। जहाँ समाजवादी पार्टी विरोध प्रदर्शन कर रही है, बसपा गांव में काम कर रही है। इन दोनों दलों के गठबंधन की ख़बर भी आ रही है लेकिन गठबंधन नहीं भी हो तो भी बसपा जिस प्रकार काम कर दही है उसे अगले लोकसभा चुनाव में फ़ायदा होगा।

पार्टी ने इसी के चलते कई अहम फ़ैसले किये हैं जिनमें से एक ये भी है कि अब बसपा कार्यकर्ता बहन जी से पैर छू कर आशीर्वाद नहीं ले सकेंगे। सुप्रीमो मायावती ने ऐसा करने से मना किया है और इस बारे में आदेश भी जारी किया है. पार्टी ने इसके अलावा भी कई ऐसे फ़ैसले लिए हैं जिससे पार्टी में नयापन नज़र आ रहा है. इसके बावजूद पार्टी एक जगह काफ़ी कमज़ोर है और वो है सोशल मीडिया सेल. पार्टी की सोशल मीडिया सेल ना के बराबर काम करती है.

बसपा का कोई आधिकारिक अकाउंट भी ट्विटर पर नहीं है और ना ही मायावती का ही है, इसका ख़ामियाज़ा पार्टी को उठाना पड़ सकता है. ऐसे में पार्टी को इस ओर भी ध्यान लगाना होगा.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *