शक की वजह से पत्नी के हाथ पर रखवाए अंगारे, अपनी बारी में तुरंत गिरा दिए…

October 26, 2018 by No Comments

कहने को २१वीं सदी आ गयी है लेकिन अंधविश्वास अभी भी दुनिया में कम नहीं हुआ है. लोग अजीब ओ ग़रीब चीज़ें करने से आज भी नहीं कतराते हैं और महिलाओं की स्थिति में सुधार भी नहीं हो पा रहा है. उत्तर प्रदेश के मथुरा में कुछ इसी तरह का मामला सामने आया है. तंत्र-मंत्र करने वाली एक महिला के कहने पर एक बहू को “पवित्र” होने की परीक्षा देनी पड़ गयी. हाथ पर अंगारे रखे हुए उसके हाथ बुरी तरह झुलस गए.

उसकी हथेलियाँ गंभीर रूप से जल गयीं. वहीँ ये परीक्षा पति को भी देनी थी लेकिन उसने जल्दी ही अंगारे गिरा दिए. इस मामले में पति समेत छह लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई है. पुलिस के अनुसार यह मामला थाना मांट क्षेत्र के गांव जाबरा के मजरा नगला बरी का है. 18 अक्टूबर को शिवानी नाम की महिला को इस तरह की प्रताड़ना से गुज़रना पड़ा क्यूंकि उसके “चरित्र” को लेकर शक किया गया.

पति जयवीर अपनी अग्नि परीक्षा के शुरू में ही फ़ेल हो गए और अंगारों की जलन को बर्दाश्त नहीं कर सके.दिलचस्प ये है कि जयवीर ने अंगारे गिरा दिए लेकिन किसी ने इस पर कोई आपत्ति न की. एक महिला पर ज़ुल्म होता रहा और पूरा गाँव तमाशा देखता रहा. हाथरस जिले के थाना सादाबाद क्षेत्र के गांव नगला फत्ते निवासी किशन सिंह ने डेढ़ वर्ष पूर्व अपनी दो पुत्रियों पुष्पा और शिवानी की शादी नगला बरी निवासी सगे भाइयों यशवीर सिंह व जयवीर सिंह से की थी.

मामले के अनुसार शादी के कुछ दिन बाद ही जयवीर अपनी पत्नी शिवानी के चरित्र पर शक करने लगा और उससे मारपीट भी करने लगा. शिवानी ने इससे इनकार किया, लेकिन ससुराल में किसी ने उसकी बात को सच नहीं माना. उल्टे तांत्रिक होने का दावा करने वाली गांव की ही एक अन्य महिला के कहने पर पंचायत बुलाकर अग्नि-परीक्षा लेने का फरमान सुना दिया. शिवानी के परिवार वालों को जब इस बात की ख़बर हुई तो उन्होंने शिवानी के पति, जेठ, सास-ससुर व दोनों ननदों के खिलाफ हत्या के प्रयास की धारा 307 के तहत जलाकर मार देने की कोशिश का मामला दर्ज कराया.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *