ये हैं इंटरनेशनल लेवल पर भारत का नाम रोशन करने वाली युवा महिला खिलाड़ी..

January 12, 2018 by No Comments

साक्षी मलिक: भारतीय महिला पहलवान हैं। इन्होंने ब्राजील के रियो डि जेनेरियो में हुए 2016 ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक में ब्रॉन्ज़ मैडल जीता है। भारत के लिए ओलंपिक मैडल जीतने वाली वे पहली महिला पहलवान हैं। इससे पहले इन्होंने ग्लासगो में आयोजित 2014 के कामनवेल्थ खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए रजत पदक जीता था। 2014 के विश्व कुश्ती प्रतियोगिता में भी इन्होंने भारत का प्रतिनिधित्व किया।

मिताली राज: भारतीय महिला क्रिकेट की मौजूदा कप्तान हैं। वे टेस्ट क्रिकेट मैच में दोहरा शतक बनाने वाली और विजडन इंडिया क्रिकेटर अवॉर्ड हासिल करने वाली पहली महिला खिलाड़ी हैं। उन्हें 21 साल की उम्र में भारतीय टीम की कमान सौंप दी गई थी। मिताली के नाम अंतरराष्ट्रीय महिला क्रिकेट में सबसे बड़े हाईएस्ट स्कोर का रिकॉर्ड है। उन्होंने साल 2002 में इंग्लैंड के खिलाफ 214 रन की पारी खेली थी। महिला और पुरुष, दोनों वर्गों के क्रिकेट में सिर्फ जावेद मियांदाद ही उनसे आगे हैं जिनके नाम लगातार नौ अर्ध-शतक जड़ने का ख़िताब है।

पी वी सिंधु: एक विश्व वरीयता प्राप्त भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी हैं तथा भारत की ओर से ओलम्पिक खेलों में महिला सिंगल्स बैडमिंटन का सिल्वर मैडल जीतने वाली वे पहली खिलाड़ी हैं। वे इससे पहले वे भारत की नैशनल चैम्पियन भी रह चुकी हैं। सिंधु ने नवंबर 2016 में चीन ऑपन का खिताब अपने नाम किया है।

आँचल ठाकुर: 2 दिन की हिमाचल प्रदेश की आँचल ठाकुर ने आज दुनियाभर में अपने नाम के साथ देश का नाम भी रोशन किया है। 21 साल की आंचल इंटरनेशनल स्कीइंग महासंघ द्वारा तुर्की में आयोजित अल्पाइन एडेर 3200 कप में ब्रॉन्ज मेडल जीता है। इंटरनैशनल स्कीइंग कॉम्पिटिशन में पदक जीतने वाली आंचल भारत की पहली खिलाड़ी हैं।

अंजुम मौदगिल: अंजुम मौदगिल एक 20 साल की चंडीगढ़ स्थित राइफल शूटर है। उसने 2009 में कॉम्पिटिटिव शूटिंग शुरू की और 10 मीटर एयर राइफल, 50 मीटर 3 स्थिति और 50 मीटर प्रोन में होने वाली तीन घटनाओं में भाग लिया।
अंजुम 2010 से भारतीय शूटिंग टीम का हिस्सा हैं। अब तक 10 अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भारत का प्रतिनिधित्व करने के बाद, उसने 7 इंटरनेशनल मैडल जीतकर देश को गौरव बढ़ाया है जिसमें से एक एशियाई एयर गन शूटिंग चैंपियनशिप में एक व्यक्तिगत कांस्य है, कुवैत 2014. कई बार नेशनल चैंपियन, उसने अपने 5 साल के कैरियर में 50 से अधिक राष्ट्रीय पदक जीते हैं। भारतीय टीम के सबसे बढ़िया निशानेबाजों में से एक, अंजुम को सितंबर, 2014 में स्पेन में आयोजित प्रतिष्ठित 51 वीं विश्व शूटिंग चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना गया।

दीपिका ठाकुर: हरियाणा की दीपिका ठाकुर ने परिवार वालों के मर्जी के खिलाफ जाकर 2003 में अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर की शुरुआत की थी और इसके बाद से ही वह नियमित तौर पर वरिष्ठ महिला हॉकी टीम की सदस्य रही हैं। पिछले साल महिला हॉकी टीम ने चैम्पियंस ट्रॉफी का खिताब जीता था। इस मैच में दीपिका हाईएस्ट स्कोर हासिल करने वाली खिलाड़ी बनी थीं। दीपिका ने बीते साल अप्रैल में भारतीय महिला हॉकी टीम की मिडफील्डर दीपिका ने इंटरनेशनल लेवल पर अपने 200 मैच पूरे कर किए हैं।

तजम्मुल इस्लाम: भारत की तजम्मुल इस्लाम ने सिर्फ 8 साल की उम्र में भारत का नाम रोशन कर दिया। उन्होंने किक बाक्सिंग के सब जूनियर वर्ग में खिताब जीता। ऐसा करने वाली वह भारत की पहली लड़की हैं। जम्मू कश्मीर से ताल्लुक रखने वाली इस नन्ही पारी ने सबको चौंकाते हुए ऐसा कारनामा कर दिखाया जिस पर न सिर्फ कश्मीर बल्कि पूरे भारत को उन पर गर्व है।

[get_Network_Id]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *