“BJP सरकार ने ही ये कहा है कि आधार लिंक ना हो तो राशन मत दो…तो इस मौत का ज़िम्मेदार कौन?”

नई दिल्ली: झारखण्ड के सिमडेगा ज़िले में 11 साल की बच्ची संतोषी कुमारी की मौत का मामला तूल पकड़ रहा है. संतोषी के परिवार को पिछले सात-आठ महीने से अनाज नहीं मिल रहा था और उसका कारण ये था कि परिवार का राशन कार्ड और आधार कार्ड लिंक नहीं था.

सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने इस बारे में झारखण्ड की भाजपा सरकार की आलोचना की है. उन्होंने ट्विटर के ज़रिये कहा है कि भाजपा सरकार ने ये आदेश दिया कि जब तक राशन कार्ड से आधार कार्ड लिंक नहीं है..राशन मत दो. उन्होंने कहा कि फिर इस मौत का ज़िम्मेदार किसे माना जाए?

येचुरी ने कुछ और मुद्दे भी उठाये

येचुरी ने दिवाली के मौक़े पर बाज़ारों में सुस्ती पर भी सरकार की आलोचना ही है. उन्होंने कहा कि नौजवान, किसान, कामगार, मध्यमवर्ग और अब व्यापारी, सब परेशान हैं. उन्होंने कहा कि इस सरकार में सिर्फ़ सुपर-रिच लोगों आ उद्धार हुआ है. गौर करने की बात है कि इस बार बाज़ारों में वो रौनक़ नजर नहीं आयी है जो हर साल होती है. इस बार धनतेरस पर भी ख़रीदारी कम ही हुई है. इसके पीछे कई व्यापारियों ने नोटबंदी और GST को ज़िम्मेदार बताया है.

इसके अलावा उन्होंने MGNREGA में पैसों की कमी को लेकर छपे एक आर्टिकल को ट्विटर पर साझा करते हुए कहा कि सरकार ने MNREGA के फाइनेंस को इस तरह से मैनेज किया है कि अब इसके लिए पैसा ही नहीं है. एक ख़बर के मुताबिक़ अभी वित्तीय वर्ष ख़त्म होने में 6 महीने बाक़ी हैं लेकिन सरकार MNREGA बजट का 88 फ़ीसद पैसा ख़र्च कर चुकी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.