योगी के मंत्री ने अयोध्या मुद्दे पर मुसलमानों की थपथपाई पीठ, ‘धर्म-संसद’ को बताया माहौल बिगड़ने का तरीक़ा

हरदोई: अयोध्या में आयोजित हुई “धर्म-सभा” को लेकर योगी सरकार के एक मंत्री ने ऐतराज़ जताया है. उन्होंने आरोप लगाया कि ये देश का माहौल ख़राब करने की साज़िश मात्र है. योगी सरकार में कैबिनेट स्तर के मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि ये पिछड़ों और दलितों को आंदोलित करने की साज़िश है. कल हुई धर्मसभा को राज्य सरकार का भी अप्रत्यक्ष समर्थन हासिल था. राजभर ने दावा किया कि नीयत ख़राब होने के कारण ही इस तरह का आयोजन हुआ है.

राजभर ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि पिछड़ों-दलितों को आंदोलित करने और माहौल बिगाड़ने के मकसद से ही धर्मसभा का आयोजन किया गया है। इसको लेकर राजभर ने अपनी ही सरकार के मुखिया योगी और पीएम मोदी पर निशाना साधा। राजभर ने देश के मुसलमानों की तारीफ़ करते हुए कहा कि उन्होंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. राजभर ने कहा कि कुछ “हिंदू कट्टरपंथी” चाहते हैं कि मुस्लिम तबका भड़के ताकि चुनावी माहौल में हिंदू वोट पोलराइज़ हो सके.

बता दें कि धर्म सभा में विहिप और आरएसएस की तरफ से अयोध्या में ऐसे बयान दिए हैं जिन्हें कुछ लोग भड़काऊ मान रहे हैं. वहीं भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर आज़ाद उर्फ रावण अयोध्या पहुंचने वाले हैं. उन्होंने भी अयोध्या में ‘धर्मसभा’ के आयोजन के पीछे ‘धार्मिक उन्माद’ पैदा करना मकसद बताया। रावण ने भी खुलकर आरोप लगाया कि कुछ संगठनों का मकसद मौहाल बिगाड़कर देश में खून खराबा कराना है। ताकि आने वाले चुनावों में उन्हें फायदा मिल सके। चंद्रशेखर ने संविधान को खतरे में बताते हुए कहा कि जब भी साम्प्रदायिक पार्टियां सत्ता चाहती हैं तो अयोध्या आ जाती हैं जबकि यह साकेत है, अयोध्या नहीं । यहां बुद्ध का मंदिर होना चाहिए। चंद्रशेखर ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि वह राम मंदिर के नाम पर नाट​क कर रही है क्योंकि पिछले साढ़े 4 साल में उनकी कोइ उपलब्धि नहीं रही है। अयोध्या में धारा 144 लागू होने के सवाल पर चंद्रशेखर ने कहा कि या तो वहां जाने से सभी को रोका जाए या किसी को भी नहीं। अगर औरो को नहीं रोका जा रहा तो फिर उन्हें क्यों रोका जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.